Sunday , November 28 2021
Home / MainSlide / दुनिया से पांच वर्ष पहले भारत टीबी उन्मूलन का लक्ष्य करेंगा हासिल-मोदी

दुनिया से पांच वर्ष पहले भारत टीबी उन्मूलन का लक्ष्य करेंगा हासिल-मोदी

नई दिल्ली 13 मार्च।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि 2030 तक दुनियाभर में तपेदिक (टीबी)समाप्त करने का लक्ष्य है, लेकिन भारत सरकार इस बीमारी से पांच वर्ष पहले ही छुटकारा पा लेना चाहती है।

श्री मोदी ने आज यहां भारत से 2025तक तपेदिक खत्म करने के अभियान का आज यहां शुभारम्भ करते हुए कहा कि भारत में यह लक्ष्य वैश्विक स्तर पर निर्धारित समयसीमा से पांच वर्ष पहले प्राप्त कर लिया जाएगा। इससे पहले प्रधानमंत्री ने दिल्ली तपेदिक उन्मूलन शिखर सम्मेलन का उद्घाटन किया। इसके बाद उन्होंने तपेतिक मुक्त भारत अभियान की भी शुरुआत की।

उन्होने कहा कि..दुनियाभर में टीबी को खत्म करने के लिए वर्ष 2030 तक का समय तय किया गया है। लेकिन मैं आज इस मंच से एक घोषणा कर रहा हूं कि भारत ने वर्ष 2030 से पांच साल और पहले यानि 2025 तक टीबी को खत्म करने का लक्ष्य हमने तय किया है..।

श्री मोदी ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 25 वर्ष पहले टीबी को एक आपातस्थिति घोषित किया था और भारत ने इस बीमारी से लड़ने के लिये लम्बा रास्ता तय किया। श्री मोदी ने कहा कि बीमारियों को खत्म करने के लिये नई पहल की गयी है, बजट राशि भी बढ़ाई गयी है।

प्रधानमंत्री ने स्थिति का विश्लेषण करने और दृष्टिकोण बदलने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि तपेदिक की रोकथाम के प्रयासों की सफलता के परिणाम अभी प्राप्त नहीं हुए हैं।श्री मोदी ने कहा कि देश से टीबी को खत्म करने में राज्य सरकारों को महत्वपूर्ण भूमिका निभानी है। प्रधानमंत्री ने बताया कि उन्होंने मिशन में शामिल होने के लिये सभी मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखे हैं, जिससे सहकारी संघवाद की भावना को बढ़ाने में भी मदद मिलेगी।

उन्होने कहा कि..टीबी को भारत से मिटाने के लिए राज्य सरकारों के बीच बहुत बड़ी भूमिका है। कॉओपरेटिव फेडरेलिज्म की भावना को मजबूत करते हुए इस मिशन में राज्य सरकारों को अपने साथ लेकर चलने के लिए मैंने खुद देश के सभी मुख्यमंत्रियों को चिठ्ठी लिखकर इस अभियान से जुड़ने का आग्रह किया है..।

इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री जे.पी. नड्डा ने कहा कि भारत विश्व से तपेदिक समाप्त करने के लिये प्रतिबद्ध है।उन्होने कहा कि..दुनिया को एक दिशा देने की दृष्टि से जब ससटेनेबल डेवलपमेंट गोल्स 2030 ने एलीमिनेट होने की बात कही गयी तो आप ने कहा कि भारत 2025 में मुक्त होना चाहिए उसके लिए हर तरीके की स्ट्रैटरजी अडॉप्ट करनी चाहिए। एक बहुत बड़ा हौसले का कदम और स्वास्थ्य विभाग उस काम को पूरा करने के लिए कृतसंकल्प है पूरी ताकत के साथ हम पूरा कर रहे हैं..।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के महानिदेशक डॉक्टर टेड्रोस एडहेनॉम घेब्रेयेसुस ने कहा कि डब्ल्यू.एच.ओ. टीबी के उन्मूलन के लिए संघर्ष में भारत और अन्य देशों के साथ है।