Thursday , December 9 2021
Home / MainSlide / दिव्यांगजन के अधिकारों एवं आवश्यकताओं के प्रति संवेदनशील होने की जरूरत-कोविन्द

दिव्यांगजन के अधिकारों एवं आवश्यकताओं के प्रति संवेदनशील होने की जरूरत-कोविन्द

नई दिल्ली 03 दिसम्बर।राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिव्यांगजन के अधिकार और उनकी आवश्यकताओं के प्रति संवेदनशील होने और सोच बदलने का आह्वान किया है।

श्री कोविंद ने अंतर्राष्ट्रीय दिव्यांगजन दिवस के अवसर पर आज यहां विज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम में कहा कि सरकार देश में दिव्यांगजन को सुविधाएं उपलब्ध कराने के प्रयास कर रही है।उन्होने कहा कि भारत सरकार ने दिव्यांगजनों के अधिकारों पर दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम 2016 पारित किया है।यह नया अधिनियम दिव्यांगजनों को समावेशी और सक्षम बनाने वाले वातावरण के लक्ष्य के साथ उन्हें और अधिक अधिकार प्रदान करता है।

उन्होने कहा कि दिव्यांगजनों की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए एक संवेदनशील राष्ट्र ने दिव्यांगताओं की श्रेणी में भी बढ़ोत्तरी करते हुए इसे सात श्रेणी से बढ़ाकर 21श्रेणी कर दिया है।विश्वास है कि इस पहल से ज्यादा से ज्यादा दिव्यांगजनों का जीवन बेहतर एवं सम्मानजनक होगा।

इस अवसर पर राष्ट्रपति कोविंद ने विभिन्न श्रेणियों में राष्ट्रीय दिव्यांगजन पुरस्कार प्रदान किये। दिव्यांगजनों के पुनर्वास में किए गए उत्कृष्ट कार्य के लिए छत्तीसगढ़ को उत्कृष्ट राज्य के पुरस्कार से नवाज़ा गया।