Saturday , May 21 2022
Home / MainSlide / डीसीजीआई ने कोविड-19 के दो टीकों के आपात स्थिति में सीमित उपयोग की दी मंजूरी

डीसीजीआई ने कोविड-19 के दो टीकों के आपात स्थिति में सीमित उपयोग की दी मंजूरी

नई दिल्ली 03 जनवरी।भारत के केन्द्रीय औषधि मानक नियंत्रक(डीसीजीआई) ने कोविड-19 के दो टीकों के आपात स्थिति में सीमित उपयोग की मंजूरी दे दी है।

भारत के केन्द्रीय औषधि मानक नियंत्रक  ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इण्डिया के कोविशील्ड और भारत बायोटैक के कोवाक्सिन, को अनुमति देने की घोषणा की है। औषधि महानियंत्रक वी जी सोमानी ने आज सुबह एक संवाददाता सम्मेलन में इसकी जानकारी दी। कोविशील्ड को ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्राजेनिका के साथ भारत में पुणे की प्रयोगशाला सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इण्डिया में विकसित किया गया है। ब्यौरा हमारे संवाददाता से –

औषधि महानियंत्रक ने बताया कि दोनों टीकों का आपात उपयोग के बारे में विशेषज्ञ समिति की सिफारिश के बाद केन्द्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन ने स्वीकृति प्रदान की। उन्होंने कहा कि ऐसा कुछ भी अनुमोदित नहीं किया जाएगा। जिसमें तनिक भी सुरक्षा सं‍बंधी चिंता की बात है।

उन्होने बताया कि केन्द्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन की विशेषज्ञ समिति की पहली और दूसरी जनवरी 2021 को बैठक हुई और उन्होंने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और मैसर्स भारत बायोटेक की कोविड-19 वायरस वैक्सीन के आपात स्थिति में इस्तेमाल के प्रस्ताव की सिफारिश की है। इसके साथ ही मैसर्स कैडिला हेल्थकेयर लिमिटेड के तीसरे चरण के क्लीनिकल परीक्षण की भी सिफारिश की।

श्री सोमानी ने बताया कि भारतीय सीरम संस्थान पुणे ने 23 हजार सात सौ 45 लोगों संबंधी सुरक्षा, रोग प्रतिरक्षा क्षमता के आकड़े प्रस्तुत किये और वैक्सीन के समग्र प्रभाव कार्य का 70 दशमलव चार दो प्रतिशत पाई गई।

उन्होने बताया कि भारतीय सीरम संस्थान और भारतीय बायोटेक द्वारा तैयार किए गए टीकों की दो खुराकें दी जाएगीं और कैडिला कं‍पनी के टीके से सभी तीनों टीकों को दो से चार डिग्री सेल्सियस तापमान पर रखना होगा।