Thursday , December 9 2021
Home / MainSlide / जनता महंगाई से परेशान और बदहाल – पुनिया

जनता महंगाई से परेशान और बदहाल – पुनिया

रायपुर 18 नवम्बर।कांग्रेस के छत्तीसगढ़ प्रभारी पूर्व सांसद पी.एल.पुनिया ने कहा कि मोदी सरकार की अकर्मण्यता और मुनाफाखोरी वाली नीति के कारण जनता महंगाई से परेशान और  बदहाल है।

श्री पुनिया ने आज यहां प्रेस कान्फ्रेंस में यह आरोप लगाते हुए कहा कि श्री मोदी के सत्ता में आने के बाद से रोजमर्रा के सामानों की कीमत दोगुनी हो गयी है। महंगाई, देश की जनता पर मोदी सरकार प्रायोजित आपदा है।मोदी और उनकी सरकार की प्राथमिकता में गांव, गरीब, किसान, मजदूर, आम आदमी है ही नहीं। मोदी सरकार ने आम आदमी को राहत देने के लिये कभी कोई योजना नही बनाई और चंद उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने के लिये योजना बनाकर उसका क्रियान्वयन किया।

उन्होने कहा कि देश में बिकने वाली दालें और खाद्य तेल का 70 प्रतिशत हिस्सेदारी सिर्फ एक ही उद्योग घराने अडानी की है। देश में उत्पादित कोयले का अधिकांश एकाधिकार प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष तौर पर अडानी का है। महंगाई बढ़ने के पांच महत्वपूर्ण कारण नोटबंदी, जीएसटी, आर्थिक कुप्रबन्धन,निजीकरण एवं विदेश नीति की विफलता हैं जोकि सीधे-सीधे मोदी सरकार की वजह से उत्पन्न हुए हैं।

श्री पुनिया ने कहा कि डीजल के कारण बस भाड़े में वृद्धि, स्टील की कीमत बढ़ी, नये कृषि कानूनों के कारण जमाखोरी हो रही है और कृषि उत्पादों में मूल्य वृद्धि हो रही है। डीजल के कारण मालभाड़े में वृद्धि हुई है। जिसके कारण लगभग सभी आवश्यक वस्तुये महंगी है। केवल सितंबर-अक्टूबर 2021 महीने में 21 बार बढ़े पेट्रोल के दाम, 2021 में केवल एक साल में प्याज की कीमतों में 40 प्रतिशत की वृद्धि, हवाई जहाज के तेल से 30 प्रतिशत अधिक महंगा है आम आदमी का पेट्रोल- डीजल, अकेले 2021 में 205 रू. महंगा हुआ एलपीजी, बैंकों में लेनदेन भी महंगा हुआ जबकि कांग्रेस शासनकाल में निःशुल्क था मोदी सरकार आने के बाद अतिरिक्त चार्ज लेना शुरू हुआ। महिलाओं के सौंदर्य प्रसाधन में 80 प्रतिशत की तथा कॉपी किताब स्टेशनरी में 70 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।