Wednesday , January 26 2022
Home / MainSlide / छत्तीसगढ़ में सड़क निर्माण के लिए 3000 करोड़ रूपये के कार्यो को मिली सैद्धांतिक स्वीकृति

छत्तीसगढ़ में सड़क निर्माण के लिए 3000 करोड़ रूपये के कार्यो को मिली सैद्धांतिक स्वीकृति

रायपुर/नई दिल्ली 25अप्रैल।केन्द्र सरकार ने छत्तीसगढ़ में सड़क निर्माण और विस्तार के लगभग 3000 करोड़ रूपये लागत के कार्यो को करने की सैद्धांतिक  स्वीकृति प्रदान की है।

यह स्वीकृति आज नई दिल्ली में केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय में आयोजित एक महत्वपूर्ण बैठक में मिली।बैठक में केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गड़करी और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह उपस्थित थे।बैठक में छत्तीसगढ़ में महत्वपूर्ण सड़क परियोजनाओं पर तेजी से कार्य करने पर जोर दिया गया।

बैठक में मुख्यमंत्री डा.सिंह के प्रस्ताव पर रायपुर शहर में व्यस्ततम टाटीबंध चैक पर जहां 5 रास्ते आकर मिलते है पर 95 करोड़ रूपये की लागत से एक इन्टरचेंज फलाईओवर बनाने की सहमति बनी। इससे नागरिकों को काफी सुविधा मिलेगी। बैठक में रायगढ़ से धर्मजयगढ़ मार्ग को फोरलेन बनाने के प्रस्ताव पर भी विचार किया गया।केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री ने इस मार्ग के निर्माण का कार्य भी शीघ्र प्रारंभ कराने का विश्वास दिलाया।

बैठक में मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ के 17 शहरों में बायपास निर्माण के लंबित प्रस्ताव के संबंध में भी केन्द्रीय मंत्री का ध्यान आकृष्ट किया।उन्होंने कहा कि यह हमारे शहरों के परिवहन को सुगम बनाने के लिए अत्यधिक आवश्यक है। श्री गडकरी ने सड़क परिवहन मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों से इन सभी शहरों के बायपास के शीघ्र निर्माण के लिए निर्देश दिये।यह बायपास बेमेतरा, सिमगा, बोदला, पोंडी , कवर्धा , मस्तुरी -अकलतरा , जांजगीर चांपा , सक्ती , रायगढ़ , कांकेर , केशकाल , अम्बिकापुर , सीतापुर , पत्थलगांव , बैंकुठपुर , सारंगगढ़ , चन्द्रपुर और अकलतरा  में बनाये जायेंगे।

श्री गडकरी ने 210 किलोमीटर लंबाई और एक हजार छह सौ करोड़ रूपये लागत के पुरूर-झलमला-कुसुमकसा-शेरपार-मानपुर राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 930 और बिलासपुर – मुंगेली -पण्डरिया-पोण्डी राष्ट्रीय राजमार्ग 130 ए तथा अभनपुर- राजिम-गरियाबंद- देवभोग मार्ग राष्ट्रीय राजमार्ग 130 सी को वार्षिक योजना 2018-19 में शामिल कर स्वीकृति जारी करने के भी निर्देश दिये।