Sunday , January 23 2022
Home / MainSlide / छत्तीसगढ़ में सम्पत्ति विरूपण अधिनियम के तहत कार्यवाहियां हुई तेज

छत्तीसगढ़ में सम्पत्ति विरूपण अधिनियम के तहत कार्यवाहियां हुई तेज

रायपुर, 09 अक्टूबर।छत्तीसगढ़ में विधानसभा निर्वाचन के अंतर्गत प्रदेश में सम्पत्ति विरूपण अधिनियम के तहत कार्यवाहियां तेज कर दी गई है।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू ने बताया कि इसके तहत 8 अक्टूबर की अवधि तक शासकीय परिसम्पत्तियों से दो लाख 17 हजार 969 होर्डिंग्स, पोस्टर, दीवार लेखन सहित बैनर-झंडे इत्यादि हटाये जाने की कार्यवाही की गई है। जिसमें एक लाख 10 हजार 286 होर्डिंग्स एवं पोस्टर 69 हजार 745 दीवार लेखन और 37 हजार 917 बैनर-झंडे आदि हटाया जाना शामिल हैं।शासकीय परिसम्पतियों के साथ-साथ निजी परिसम्पत्तियों से भी इसी प्रकार की कार्यवाही की जाएगी।इसके लिए कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए है।

उन्होंने बताया कि 7 अक्टूबर की अवधि तक एक लाख 34 हजार 578 होर्डिंग्स एवं पोस्टर, दीवार लेखन, बैनर-झंडे हटाये गए। जिसमें 74 हजार 645 होर्डिंग्स एवं पोस्टर 41 हजार 642 दीवार लेखन और 18 हजार 291 बैनर-झंडे आदि हटाया जाना शामिल है। इसी प्रकार 8 अक्टूबर को 83 हजार 391 सम्पत्ति विरूपण अधिनियम के अंतर्गत कार्यवाही की गई।  जिनमें 35 हजार 641 होर्डिंग्स एवं पोस्टर, 28 हजार 104 दीवार लेखन और 19 हजार 646 बैनर-झंडे हटाये गए।

उल्लेखनीय है कि प्रदेश में 06 अक्टूबर से आदर्श आचार संहिता प्रभावशील कर दी गई है, इसे दृष्टिगत रखते हुए सम्पत्ति विरूपण अधिनियम के तहत कार्यवाही की जा रही है। जो आगे भी जारी रहेगी।