Sunday , December 5 2021
Home / MainSlide / छत्तीसगढ़ में बालिका शिक्षा को लेकर अभूतपूर्व जागरूकता- रमन

छत्तीसगढ़ में बालिका शिक्षा को लेकर अभूतपूर्व जागरूकता- रमन

रायपुर 20 मार्च।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि प्रदेश के दूर-दराज गांवों में पहुंचने पर मुझे बालिकाओं की शिक्षा के प्रति समाज में आ रही अभूतपूर्व जागरूकता देखने को मिली है।कई गांवों के स्कूलों में बेटियों की दर्ज संख्या बेटों की तुलना में अधिक है।

डॉ.सिंह ने आज रात यहां समता कॉलोनी में गनपत राय सेवा सदन (कन्या छात्रावास) का लोकार्पण करते हुए इस आशय के विचार व्यक्त किए। 160 सीटों वाले इस छात्रावास भवन का निर्माण हरगोविंद राय गनपत राय चेरिटेबल ट्रस्ट द्वारा किया गया है।

डा.सिंह ने समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य में बालिकाओं की शिक्षा के प्रति सभी वर्गों में अभूतपूर्व जागरूकता आयी है। उन्होंने कहा-पिछले 14 वर्षों में प्रदेश में राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर के अनेक शिक्षा संस्थान प्रारंभ होने के कारण बालिकाओं की शिक्षा के लिए ऐसे सामाजिक प्रयास की अत्यंत आवश्यकता महसूस की जा रही थी।

डॉ.सिंह ने हरगोविंद राय गनपत राय चेरिटेबल ट्रस्ट के द्वारा बालिकाओं के लिए सेवा सदन के रूप में छात्रावास भवन के निर्माण की सराहना करते हुए कहा कि संस्था ने चैत्र नवरात्रि पर्व के अवसर पर नारी शक्ति की उपासना एक छात्रावास बनाकर की है। यह एक समाज के लिए बड़ा काम है। उन्होंने ट्रस्ट के सभी पदाधिकारियों और सदस्यों को इस कार्य के लिए बधाई एवं शुभकामनाएं दी।

कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि महाराज अग्रसेन ने समाजवाद का जो रास्ता दिखाया था उस पर चलकर स्वर्गीय गणपत राय के परिवार के लोगों ने अपने पिता की इच्छा पूरी की है, इससे बड़ा कोई काम नहीं हो सकता। यह सेवा सदन बालिकाओं की शिक्षा को गढ़ने के लिए एक सार्थक कदम साबित होगा, इसके लिए ट्रस्ट के सभी पदाधिकारी साधूवाद के पात्र है।