Wednesday , July 6 2022
Home / MainSlide / छत्तीसगढ़ में पहले चरण के चुनाव प्रचार ने पकड़ा जोर

छत्तीसगढ़ में पहले चरण के चुनाव प्रचार ने पकड़ा जोर

रायपुर 04 नवम्बर।छत्‍तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के पहले चरण के सि‍लसिले में चुनाव प्रचार जोर पकड़ रहा है।विभिन्‍न पार्टियों के स्‍टार प्रचारक अपने उम्‍मीदवारों के लिए वोट जुटाने बस्‍तर और राजनांदगांव जिलों के विभिन्‍न इलाकों का दौरा कर रहे हैं।

भारतीय जनता पार्टी के अध्‍यक्ष अमित शाह ने आज  खुज्‍जी, खैरागढ़ और कोंडागांव निर्वाचन क्षेत्रों में चुनाव सभाएं कीं। उन्‍होंने कांग्रेस से नक्‍सलवाद को लेकर अपना रवैया स्‍पष्‍ट करने को कहा है।खुज्‍जी में एक चुनाव सभा को संबोधित करते हुए भाजपा अध्‍यक्ष ने कहा कि मुख्‍यमंत्री रमन सिंह के नेतृत्‍व में छत्‍तीसगढ़ सरकार ने पिछले 15 वर्षों के दौरान राज्‍य को माओवाद की समस्‍या से लगभग मुक्‍त करा दिया है।

श्री शाह ने आज ही कोण्डागांव में चुनावी सभा में  कहा कि कांग्रेस को नक्‍सलवाद में क्रांति दिखाई देती है जबकि भारतीय जनता पार्टी विकास को ही क्रांति मानती है। दूसरी और कांग्रेस के अभिषेक मनु सिंघवी ने आज रायपुर में पत्रकारों से चर्चा करते हुए आरोप लगाया कि बीते 15 सालों में प्रदेश का विकास नहीं हुआ और छत्‍तीसगढ़ में गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वालों की संख्‍या बढ़ी है।

बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने भी छत्‍तीसगढ़ के जंजगीर-चम्‍पा जिले में अकलतरा में एक सभा में  आरोप लगाया कि राज्‍य की अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजातियों का विरोध करने वाली पार्टियों की वजह से इन समुदाय के लोग नक्‍सलवाद और हिंसा का रास्‍ता अपनाने को मजबूर हुए हैं।