Friday , July 1 2022
Home / MainSlide / छत्तीसगढ़ में दूसरे एवं आखिरी चरण में 73 प्रतिशत मतदान

छत्तीसगढ़ में दूसरे एवं आखिरी चरण में 73 प्रतिशत मतदान

रायपुर 20 नवम्बर।छत्तीसगढ़ में दूसरे एवं आखिरी चरण की 72 विधानसभा सीटों पर मतदाताओं का निर्णय ईवीएम मे कैद हो गया।इस चरण में 73 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

राज्य निर्वाचन अधिकारी सुब्रत साहू ने बताया कि मतदान शान्तिपूर्ण सम्पन्न हुआ,और कहीं से भी किसी प्रिय वारदात की सूचना नही मिली। उन्होने बताया किमतदान के आकंडे छह बजे तक के है।अभी भी कई मतदान केन्द्रों पर मतदान जारी है।इससे मतदान प्रतिशत और बढ़ सकता है।उन्होने बताया कि सुरक्षा कारणों से गरियाबन्द जिले के बिन्द्रानवागढ़ विधानसभा क्षेत्र के घुर नक्सल प्रभावित दो मतदान केन्द्रों पर मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ था,यहां मतदान तीन बजे समाप्त हो गया।

उन्होने बड़ी संख्या में ईवीएम खराब होने को लेकर उठते सवालों पर सफाई देते हुए बताया कि मतदान शुरू होने से पहले टेस्ट में 180 ईवीएम,162 कन्ट्रोल यूनिट,325 वीवीपैट खराब पाए गए थे,जबकि मतदान शुरू होने के बाद 114 ईवीएम,89 कन्ट्रोल यूनिट तथा 359 वीवीपैट खराब पाए गए।अधिकांश जगहों पर मशीनों को आधे घंटे में बदल दिया गया।

ईवीएम में जिन प्रमुख लोगो का राजनीतिक लोगो का चुनावी भविष्य आज कैद हो गया,उनमें जनता कांग्रेस बसपा गठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार अजीत जोगी(मरवाही),कांग्रेस विधायक दल के नेता टी.एस.सिंहदेव(अम्बिकापुर),प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल (पाटन),प्रदेश भाजपा अध्यक्ष धरम कौशिक (बिल्हा),विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंर अग्रवाल (कसडोल),कांग्रेस प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष पूर्व केन्द्रीय मंत्री डा.चरणदास महंत(सक्ती) शामिल है।

इसके अलावा राज्य के मंत्रियों बृजमोहन अग्रवाल(रायपुर दक्षिण),अमर अग्रवाल(बिलासपुर), प्रेमप्रकाश पांडेय(भिलाई नगर),राजेश मूणत(रायपुर पश्चिम)भैयाराम रजवाड़े(बैकुंठपुर)रामसेवक पैकरा( प्रतापपुर),पुन्नूलाल मोहले (मुंगेली),अजय चन्द्राकर (कुरूद) का चुनावी भविष्य भी ईवीएम में कैद हो गया।

इस चरण की अधिकांश सीटों पर सत्तारूढ़ भाजपा एवं मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला है।कई सीटों पर जनता कांग्रेस-बसपा गठबंधन ने चुनावी मुकाबले के त्रिकोणीय बनाने की कोशिश की है।इस गठबंधन का बिलासपुर संभाग में ज्यादा असर बताया जाता है।