Thursday , August 18 2022
Home / MainSlide / छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की चुनावी घोषणाओं पर मोदी ने साधा निशाना

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की चुनावी घोषणाओं पर मोदी ने साधा निशाना

अंबिकापुर 16नवम्बर।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के लोक लुभावन चुनावी वादों पर निशाना साधते हुए आज कहा कि झूठ और खोखले वादों की राजनीति करना कांग्रेस का चरित्र है, जबकि भाजपा विकास के ठोस काम करने में विश्वास रखती है।

श्री मोदी ने आज यहां एक चुनावी सभा में कांग्रेस पर जमकर हमला बोला और कहा कि हमसे चार साल एवं 15 साल का हिसाब मांगने वाले पहले अपनी चार पीढिय़ों का हिसाब तो देश को दें।उन्होंने कहा हमने गांव-शहर, मेरे-तेरे, अपने-पराए, बिरादरी जैसे तमाम भेदभाव से ऊपर उठकर सबका साथ-सबका विकास मंत्र लेकर काम किया है और आगे भी करेंगे। प्रधानमंत्री आवास योजना, उज्जवला गैस कनेक्शन योजना और आयुष्मान भारत योजना की चर्चा भी करते हुए श्री मोदी ने एक बार फिर नोटबंदी के फैसले को जायज ठहराया और कहा कि बोरों भरे नोट, बिस्तर-तकियों में छिपे नोट बाहर निकलते ही विपक्ष के लोग जोर-जोर आंसू बहा रहे हैं।

उन्होंने अविभाजित मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ की सरकारों के तब के मुखिया दिग्विजय सिंह और अजीत जोगी पर निशाना साधा और कहा कि उन्होंने अपनी घोषणाओं पर अमल तो दूर अपने घोषणा पत्र के 62 फीसदी बिंदुओं के तो पढ़ा तक नहीं। आज कांग्रेस के अध्यक्ष छत्तीसगढ़ में भाषण झाड़ रहे हैं! वे कह रहे हैं कि रमन सिंह को ये करना था-वो करना था, ये नहीं किया-वो नहीं किया। उन्होंने कहा कि, मैं पूछता हूं कि आपको  यह ज्ञान कब हुआ? जब आप सत्ता में थे, तब आपने क्यों नहीं ये काम करा लिए?

श्री मोदी ने कहा कि कांग्रेस नेतृत्व देश और उसकी सत्ता पर अपना एकाधिकार मानता है और उसके राज दरबारी-राग दरबारी एक ही परिवार के गीत गाते रहते हैं।उन्होंने कांग्रेस नेतृत्व को चुनौती दी कि लोकतंत्र की बड़ी-बड़ी बातें करने वाला कांग्रेस नेतृत्व प्रधानमंत्री न सही, अपनी पार्टी का अध्यक्ष ही सिर्फ एक कार्यकाल के लिए एक परिवार से बाहर के व्यक्ति को बनाकर दिखा दे तो वे पं.नेहरू की लोकतंत्र में आस्था की बात स्वीकार कर लेंगे।