Wednesday , December 1 2021
Home / MainSlide / छत्तीसगढ़ की लगभग 74 हजार बसाहटों में हुई पेयजल व्यवस्था

छत्तीसगढ़ की लगभग 74 हजार बसाहटों में हुई पेयजल व्यवस्था

रायपुर 30 नवम्बर।छत्तीसगढ़ की 73848 बसाहटों में निर्धारित मापदंड के अनुसार पेयजल की व्यवस्था की जा चुकी है।

लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री रामसेवक पैकरा ने आज अपने विभाग की 14 वर्ष की उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए बताया कि राज्य सरकार ने जनता को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराने की दिशा में सार्थक प्रयास किए हैं।उन्होंने बताया कि लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा राज्य के 55 हजार 294 स्कूलों में और 27 हजार 428 आंगनबाड़ी केन्द्रों में पेयजल व्यवस्था की जा चुकी है। वर्ष 2003 की स्थिति में छत्तीसगढ़ में सिर्फ 44 हजार 542 बसाहटों में पेयजल की सुविधा थी, जबकि अक्टूबर 2017 तक 73 हजार 848 बसाहटों में निर्धारित मापदंड के अनुसार पेयजल की व्यवस्था की जा चुकी है। विगत 14 वर्षों में प्रदेश में हैण्डपम्पों की संख्या लगभग एक लाख 36 हजार से बढ़कर दो लाख 68 हजार तक पहुंच गई है।

श्री पैकरा ने बताया कि छत्तीसगढ़ में इस समय प्रत्येक 73 लोगों पर एक हैंडपम्प कार्यरत है। वर्ष 2003 में राज्य में 978 ग्रामीण नल-जल योजनाओं का संचालन किया जा रहा था। जबकि आज की स्थिति में इनकी स्वीकृत संख्या बढ़कर तीन हजार 487 हो गई है। इनमें से तीन हजार 148 ग्रामीण नलजल योजनाओं का निर्माण पूर्ण कर लिया गया है।