Tuesday , November 30 2021
Home / MainSlide / चक्रवाती समुद्री तूफान ओखी लक्षद्वीप से उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ा

चक्रवाती समुद्री तूफान ओखी लक्षद्वीप से उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ा

तिरूवनंतपुरम/मिनीकाय/कन्याकुमारी 03 दिसम्बर।चक्रवाती समुद्री तूफान ओखी लक्षद्वीप से उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ गया है। इससे वर्षा और तूफान से कुछ राहत मिली है। सभी प्रभावित क्षेत्रों में राहत कार्य तेजी से चल रहा है।

मौसम विभाग ने समुद्री तूफान के तीव्र होने का अनुमान व्यक्त किया है। इससे द्वीपों में बाढ़ आने की आशंका है। मछुआरों को समुद्र में न जाने की सलाह दी गई है। मौसम की स्थिति बेहतर होने तक द्वीपों और मुख्य भू-भाग के बीच आवागमन रोक दिया गया है। संचार नेटवर्क और बिजली की आपूर्ति बहाल करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारामन ने आज तिरूवनंतपुरम में तूफान प्रभावित क्षेत्रों की स्थिति का जायजा लिया और हिन्द महासमागर,अरब सागर एवं बंगाल की खाड़ी के संगम तमिलनाडु के कन्याकुमारी भी गई।

व्यापक तवाही को देखते हुए प्रशासन ने कहा है कि सबसे ज्यादा प्रभावित मिनीकॉय और कालपेनी द्वीपों में राहत कार्य पूरा करने में कम से कम दो सप्ताह और लगेंगे। द्वीपों के बीच संचार संपर्क भी प्रभावित हुआ है। द्वीपों में संचार नेटवर्क और बिजली आपूर्ति बहाल करने के सभी प्रयास किए जा रहे हैं।

कोच्चि से 38 मछुआरों के साथ लापता तीन नौकाएं आज सुरक्षित कावारती तट पर पहुंच गयीं। इस बीच कई और इलाकों से लोगों को निकालकर राहत शिविरों में पहुंचाया जा रहा है। नुकसान और राहत कार्यों पर विचार-विमर्श के लिए तिरूअनंतपुरम में मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में उच्चस्तरीय बैठक हुई।

भारतीय तटरक्षक बल ने आज कन्याकुमारी में समुद्र में मछली पकड़ने गई दो नौकाओं में सवार 19 मछुआरों को बचा लिया है।कोल्लम में भी तीन मछुआरों को बचाया गया है।