Sunday , November 28 2021
Home / MainSlide / घुर नक्सल प्रभावित बस्तर में सड़क कनेक्टीविटी बढ़ाने पर मुख्य सचिव का जोर

घुर नक्सल प्रभावित बस्तर में सड़क कनेक्टीविटी बढ़ाने पर मुख्य सचिव का जोर

दंतेवाड़ा 18 जनवरी।छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव अजय सिंह ने घुर नक्सल प्रभावित बस्तर संभाग के अंदरूनी इलाकों में सडक कनेक्टीविटी बढ़ाने के लिए संबंधित विभागों को बेहतर तालमेल के साथ काम करने के निर्देश दिए है।

मुख्य सचिव का कार्यभार ग्रहण करने के बाद श्री सिंह ने पहली बार आज यहां आयोजित बैठक में बस्तर संभाग में विकास कार्यों की प्रगति और सुरक्षा कार्यों की समीक्षा की।उन्होंने कहा कि सड़क निर्माण कार्यों के लिए सुरक्षा के प्रबंध और सडक निर्माण करने वाले ठेकेदारों को स्थानीय स्तर पर निर्माण सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित की जाये। यदि सडक निर्माण हेतु ‘‘फारेस्ट क्लीयेरेंस’’ सम्बन्धी प्रकरण लंबित हैं, तो इन्हें जल्द निराकृत किया जाये।

श्री सिंह ने बस्तर संभाग की महत्वपूर्ण सडक परियोजनाओं तथा कार्यों की अद्यतन प्रगति की विस्तृत जानकारी ली और अधिकारियों को निर्देशित किया कि बस्तर में विकास को अंदरूनी क्षेत्रों तक पहुँचाने और आम जनता को विकास में सहभागी बनाने में सड़कें सर्वाधिक महत्वपूर्ण हैं। इसलिए सडक निर्माण कार्यों को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाये। जिन सडकों के निर्माण के लिए समन्वय की जरूरत है, वहां विभागीय समन्वय के माध्यम से कार्य में तेजी लायें।मुख्य सचिव ने सड़क निर्माण में लापरवाही करने वाले ठेकेदारों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

मुख्य सचिव ने सडक निर्माण, रेल लाईन निर्माण तथा आयरन ओर माईंस के लिए पर्याप्त सुरक्षा उपलब्ध कराने, वहीं नक्सल ऑपरेशन के लिए रणनीति अपनाकर इस समस्या को समूल नष्ट करने की आवश्यकता बतायी। उन्होने सुरक्षा व्यवस्था हेतु नये थाने तथा कैम्प खोलने के प्रस्तावों पर अतिशीघ्र पहल करने निर्देश दिया।

मुख्य सचिव ने वन विभाग के कार्यों की समीक्षा के दौरान आगामी 31 जनवरी तक तेन्दूपत्ता बोनस राशि का भुगतान सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सुकमा जिले की विषम भौगोलिक परिस्थिति को ध्यान रखते हुए शिविर लगाकर संग्राहकों को नकद भुगतान किया जाए। बस्तर कमिश्नर दिलीप वासनीकर ने बस्तर संभाग के दूरस्थ क्षेत्रों में दूरभाष व इंटरनेट कनेक्टिविटी बढ़ाने के संबंध में विशेष प्रयास करने की जरूरत बतायी।उन्होने सभी जिलों में दूरस्थ क्षेत्रों में परिवहन सुविधायें के विस्तार पर जोर दिया।

बैठक में गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव बी.वी.आर. सुब्रमण्यम, अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास आर.पी. मंडल, अपर मुख्य सचिव वन विभाग सी.के.खेतान, पुलिस महानिदेशक श्री ए.एन. उपाध्याय तथा पुलिस महानिदेशक नक्सल ऑपरेशन श्री डी.एम. अवस्थी ने भी अधिकारियों को बस्तर अंचल में विकास गतिविधियों को सुनिश्चित करने के लिए समन्वय के साथ काम करने की जरूरत बतायी।