Thursday , December 9 2021
Home / MainSlide / गिरौदपुरी देश और दुनिया के लाखों श्रद्धालुओं की आस्था का केन्द्र – रमन

गिरौदपुरी देश और दुनिया के लाखों श्रद्धालुओं की आस्था का केन्द्र – रमन

बलौदा बाजार 30 दिसम्बर।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि सतनाम पंत के प्रवर्तक बाबा गुरू घासीदास की जन्म स्थली और कर्म स्थली गिरौदपुरी देश और दुनिया के लाखों श्रद्धालुओं की आस्था का केन्द्र हैं।

डा.सिंह आज यहां आयोजित गुरू घासीदास जयंती समारोह को सम्बोधित कर रहे थे।उन्होने कहा कि बलौदाबाजार जिले में शहीद वीरनारायण सिंह की जन्म स्थली है और यहां कबीर पंथ का प्रमुख तीर्थ दामाखेड़ा भी स्थित है।इस पावन भूमि को इन महान विभूतियों का आशीर्वाद प्राप्त है। डॉ. सिंह ने इस अवसर पर महंत नयनदास महिलांगे स्मृति स्थल पर समरसता सामुदायिक भवन का भूमिपूजन-शिलान्यास और जैतखाम की पूजा-अर्चना की।

उन्होने बाबा गुरू घासीदास की 261 वीं जयंती के अवसर पर जिलेवासियों को बधाई और शुभकामनाएं देते हुए कहा कि बाबा गुरू घासीदास के आशीर्वाद से प्रदेश विकास के रास्ते पर तेजी से आगे बढ़ रहा है। छत्तीसगढ़ में सूचना क्रांति के नए युग की शुरूआत हो गई है, आज प्रदेश की छह हजार ग्राम पंचायतों को इंटरनेट से जोड़ने के लिए एमओयू किया गया है।उन्होंने कहा कि इससे अनेक नागरिक सेवाएं इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से सरलता से मिलेगी। ई-सेवाओं का आमजनता को लाभ मिलने से ग्रामीण अर्थव्यवस्था डिजिटल होगी और विद्यार्थियों को अध्ययन-अध्यापन में लाभ मिलेगा।

उन्होने कहा कि प्रदेश में बाबा गुरू घासीदास के आठ उपदेश प्रेरणादायक हैं। प्रदेश सरकार द्वारा गिरौदपुरी में जैतखाम के निर्माण के साथ इस पावन स्थल के विकास के कार्यों निरंतर किए जा रहे हैं। बाबा गुरू घासीदास के आशीर्वाद से गिरौदपुरी को पूरे विश्व में पहचाना जा रहा है, यह स्थल बलौदाबाजार जिले की गरिमा का प्रतीक है।

विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल ने समारोह की अध्यक्षता की। लोकसभा सांसद जांजगीर श्रीमती कमलादेवी पाटले, राज्य सभा सांसद डॉ. भूषण लाल जांगड़े, अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष डॉ. सनम जांगड़े, छत्तीसगढ़ खनिज विकास निगम के अध्यक्ष श्री शिवरतन शर्मा, विधायक बलौदाबाजार श्री जनकराम वर्मा, जिला पंचायत बलौदाबाजार अध्यक्ष श्रीमती पूनम मारकण्डे, जनपद पंचायत बलौदाबाजार की अध्यक्ष श्रीमती सुलोचना यादव, पूर्व विधायक श्रीमती लक्ष्मी बघेल और जिला पंचायत पूर्व अध्यक्ष श्रीमती लक्ष्मी वर्मा विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित थीं।