Monday , August 8 2022
Home / MainSlide / गंगरेल की खूबसूरती फैलेगी देश-विदेश में – अल्फॉंन्स

गंगरेल की खूबसूरती फैलेगी देश-विदेश में – अल्फॉंन्स

धमतरी 14 सितम्बर।केन्द्रीय पर्यटन मंत्रालय की स्वदेश दर्शन योजना के तहत् ’ट्रायबल टूरिस्म सर्किट’ गंगरेल का लोकार्पण आज केन्द्रीय पर्यटन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के.जे.अल्फॉन्स द्वारा किया गया।

श्री अल्फांस  ने  लोकार्पण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ बेहद खुबसूरत राज्य है और उनमें से एक धमतरी जिले का गंगरेल बांध भी खूबसूरत जगह है। पर्यटन विभाग द्वारा स्वदेश दर्शन योजना के तहत् गंगरेल बांध को भी ट्रायबल टूरिस्म सर्किट के अंतर्गत शामिल किया गया है, जिससे गंगरेल की खूबसूरती देश-विदेश में फैलेगी।

उन्होंने कहा कि भारत सरकार द्वारा पर्यटन के क्षेत्र में अभूतपूर्व कार्य किया जा रहा है। पिछले चार साल में वैश्विक पर्यटन में 14 प्रतिशत् की वृद्धि हुई है, वहीं विदेशी पर्यटकों से प्राप्त आय भी 20 प्रतिशत अधिक बढ़ा है।उन्होने कहा कि सरकार की नीति तीन साल में पर्यटकों की संख्या को दोगुना करने का है। उन्होंने छत्तीसगढ़ शासन की सराहना करते हुए कहा कि यहां विकास के नए आयाम गढ़े गए हैं। नया रायपुर की स्वच्छता देखते ही बनती है।

कार्यक्रम के दौरान पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री अजय चन्द्राकर के सुझाव पर गंगरेल में कृत्रिम बीच बनाने के लिए श्री अल्फॉंन्स द्वारा तकनीकी एवं वित्तीय सहायता देने पर सहमति व्यक्त की गई। उन्होंने कहा कि गंगरेल में सैलानियों के आवागमन पर भी समय सीमा बढ़ाई जाए। शाम पांच बजे के बाद भी खुला रखा जाए। श्री अल्फॉंन्स ने केन्द्र सरकार द्वारा चलाए जा रहे विभिन्न योजनाओं की जानकारी भी दी।

लोकार्पण कार्यक्रम में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री चन्द्राकर ने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य की संस्कृति, परम्परा, बोली और हस्तशिल्प की विविधताएं संभवतः देश में सबसे ज्यादा है। राज्य में पर्यटन के विकास को लेकर सराहनीय कार्य किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि गंगरेल में कृत्रिम बीच बनाने कल्पना की गई थी, जिसे केन्द्र सरकार द्वारा तकनीकी एवं वित्तीय सहायता मिलने पर साकार किया जा सकता है। साथ ही उन्होंने कहा कि यहां टापू में आधुनिक और अन्य सुविधाएं मुहैय्या कराकर सैलानियों के लिए आकर्षण का केन्द्र बनाया जा सकता है।