Monday , August 8 2022
Home / MainSlide / कोविंद ने न्यायिक प्रणाली की सहायता से बचने की मानसिकता पर जताई चिन्ता

कोविंद ने न्यायिक प्रणाली की सहायता से बचने की मानसिकता पर जताई चिन्ता

कानपुर 29 जून।राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गरीबों में अपनी समस्‍याओं के समाधान के लिए न्‍यायिक प्रणाली की सहायता से बचने की मानसिकता पर चिन्‍ता व्‍यक्‍त की है।

श्री कोविंद आज कानपुर बार एसोसिएशन सभागार की आधारशिला रखने के बाद आयोजित स्‍वागत समारोह को सम्‍बोधित कर रहे थे। श्री कोविन्‍द ने कहा कि यह स्थिति बदलनी चाहिए और इस दिशा में अधिवक्‍ताओं को ही महत्‍वपूर्ण भूमिका निभानी चाहिए।प्रयास हमें ये करना चाहिए कि न्‍याय दिलाने के लिए हम मुकदमा लड़ें। हमारी प्राथमिकता यही होनी चाहिए। हमारी प्राथमिकता जीवकोपार्जन के लिए न हो। आप बहुत बड़ा काम कर सकते हो, बहुत बड़ा।

राष्‍ट्रपति ने यह भी कहा कि काफी समय से लम्बित मामलों के निष्‍पादन में अधिवक्‍ताओं को न्‍यायालय को सहयोग देना चाहिए। उन्‍होंने मुकदमों के निपटान के सिलसिले में इलाहाबाद उच्‍च न्‍यायालय के मुख्‍य न्‍यायाधीश के प्रयासों की सराहना की।