Monday , August 8 2022
Home / देश-विदेश / किस्मत बदलने वाले कैैंंची धाम बाबा नीब करौरी के दर पर एक बार फिर उमडे़गा आस्था का सैलाब

किस्मत बदलने वाले कैैंंची धाम बाबा नीब करौरी के दर पर एक बार फिर उमडे़गा आस्था का सैलाब

किस्मत बदलने वाले कैैंंची धाम (Kainchi Dham) बाबा नीब करौरी के दर पर एक बार फिर आस्था का सैलाब उमडे़गा। 12 जुलाई को अखंड रामायण पाठ के बाद 13 को भंडारा लगेगा। मंदिर प्रबंधन ने कार्यक्रम की तैयारियां तेज कर दी है।
अल्मोड़ा हल्द्वानी हाईवे पर स्थित कैंची धाम में 12 जुलाई को अखंड रामायण पाठ होगा। देश विदेश से श्रद्धालु मंदिर पहुंचेंगे। 13 जुलाई को गुरु पूर्णिमा पर्व पर भंडारा लगेगा। मंदिर प्रबंधन के प्रदीप साह भय्यू के अनुसार कार्यक्रम की रूपरेखा तय कर तैयारियां शुरू कर दी गई है। श्रद्धालुओं को परेशानी ना हो इसके लिए विशेष रणनीति बनाई जा रही है। 15 जून के बाद एक बार फिर बाबा के दर पर भक्तों का तांता लगेगा। होम स्टे में रह सकते है श्रद्धालु बाबा के दर पर पहुंचने वाले श्रद्धालुओं को कोई परेशानी ना हो इसके लिए गरमपानी व भवाली स्थित कुमाऊं मंडल विकास निगम के विश्राम गृह भी तैयारी में है। वहीं कैंची धाम क्षेत्र में दस से ज्यादा होम स्टे संचालित है। बेहद कम शुल्क का भुगतान कर बाबा भक्त यहां रह सकते है। श्रद्धालु केएमवीएन की वेबसाइट पर जाकर होम स्टे बुक कर सकते हैं। 800 से 1000 रुपये तक कमरे उपलब्ध भवाली और गरमपानी में स्थित केएमवीएन के विश्राम गृह में 800 से एक हजार रुपये तक कमरे उपलब्ध होते हैं वहीं उचित दामों पर भोजन की व्यवस्था भी होती है। श्रद्धालु ऑनलाइन भी कमरों की बुकिंग कर सकते हैं, वहीं कैंची धाम में स्थित होम स्टे में शाकाहारी भोजन उपलब्ध रहता है। 800 से 1000 रुपये तक कमरे उपलब्ध होते हैं। ऐसे पहुंचे कैंची धाम अल्मोड़ा हल्द्वानी हाईवे पर भवाली से महज दस किमी दूरी पर स्थित कैंची धाम पहुंचने के लिए श्रद्धालु हल्द्वानी से रोडवेज, केएमओ बस तथा टैक्सियों का इस्तेमाल कर सकते हैं। हल्द्वानी से कैंची धाम महज पचास किमी दूर है। हल्द्वानी से वाया भीमताल तथा ज्योलीकोट होते हुए आसानी से कैंची धाम पहुंचा जा सकता है।