Thursday , August 18 2022
Home / MainSlide / कर्नाटक की येदियुरप्पा सरकार का बहुमत परीक्षण कल शाम

कर्नाटक की येदियुरप्पा सरकार का बहुमत परीक्षण कल शाम

नई दिल्ली 18मई।उच्चतम न्यायालय ने कर्नाटक विधानसभा में कल शाम चार बजे शक्ति परीक्षण का आदेश दिया है। इससे पहले राज्यपाल ने भाजपा के मुख्यमंत्री बी0 एस0 येदियुरप्पा को सदन में बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का समय दिया था।

न्यायाधीश न्यायमूर्ति ए0 के0 सीकरी की अध्यक्षता में तीन न्यायाधीशों की पीठ ने कांग्रेस-जनता दल-सेक्युलर की याचिका पर यह आदेश दिया।याचिका में भाजपा के बी0 एस0 येदियुरप्पा को सरकार गठन के लिए आमंत्रित करने के राज्यरपाल वजु भाईवाला के फैसले को चुनौती दी गई थी।

पीठ ने कहा कि सदन में शक्ति परीक्षण के मुद्दे पर अस्थायी अध्यक्ष कानून के अनुसार फैसला लेंगे। पीठ ने राज्य सरकार और राज्यपाल को निर्देश दिया कि वे शक्ति परीक्षण में भाग लेने के लिए एंगलो इंडियन समुदाय से किसी सदस्य को मनोनीत नहीं करे।येदियुरप्पा सरकार से यह भी कहा कि वह सदन में बहुमत साबित करने तक कोई बड़ा नीतिगत फैसला न ले।

अदालत ने पुलिस महानिदेशक और अन्य सम्बद्ध अधिकारियों को विधानसभा के बाहर कानून और व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिये गये हैं।मुख्यमंत्री के वकील मुकुल रोहतगी ने सदन में बहुमत साबित करने के लिए सोमवार तक का समय मांगा था। उन्होंने सरकार गठन के दावे के बारे में राज्यपाल को लिखे पत्र न्यायालय में पेश किये।

उन्होंने कहा कि राज्य की जनता ने सबसे बड़ी पार्टी के रूप में भाजपा को चुना है। श्री रोहतगी ने यह भी कहा कि कांग्रेस-जनता दल-सेक्युलर के बीच चुनाव पूर्व गठबंधन नहीं हुआ था और इन्होंने चुनाव के बाद एक नापाक गठबंधन बनाया है।

उच्चतम न्यायालय ने कल तड़के कांग्रेस-जनता दल-सेक्युलर की याचिका पर सुनवाई करते हुए श्री येडियुरप्पा सरकार के शपथ ग्रहण पर रोक लगाने से इंकार कर दिया था। इसके बाद बी0 एस0 येदियुरप्पा ने कल मुख्य मंत्री के रूप में शपथ ली थी।

उच्चतम न्यायालय के इस निर्णय के बीच श्री येदियुरप्पा ने कहा कि पार्टी न्या।यालय के आदेश का पालन करेगी। उन्होंने कहा कि वे कल सदन में बहुमत साबित करेंगे।