Tuesday , July 5 2022
Home / MainSlide / कम समय में वायुसेना खुद को युद्ध के लिए कर सकती हैं तैयार – धनोआ

कम समय में वायुसेना खुद को युद्ध के लिए कर सकती हैं तैयार – धनोआ

नई दिल्ली 08अक्टूबर।वायुसेना प्रमुख बी. एस. धनोआ ने आज फिर कहा कि जरूरत पड़ने पर बहुत कम समय में वायुसेना खुद को युद्ध के लिए तैयार कर सकती है।

श्री धनोआ ने दिल्ली के नजदीक हिंडन वायुसैनिक अड्डे पर भारतीय वायुसेना के 85वें स्थापना दिवस के मौके पर अपने सम्बोधन में आगे कहा कि चाहे आतंकी हमले हों या प्राकृतिक आपदाएं, वायुसेना की भूमिका हमेशा अग्रणी रहेगी। एयरचीफ मार्शल धनोआ ने कहा कि वायुसेना मेक इन इंडिया पर जोर दे रही है और स्वदेश में ही निर्माण की गति में तेजी लाई जाएगी।

उन्होने कहा कि..भारतीय वायुसेना राष्ट्र के भरोसे, विश्वास और समर्थन के लिए उसकी आभारी है। हमारे आधुनिकीकरण की योजनाओं के लिए मैं सभी वायुसैनिकों की ओर से रक्षा मंत्रालय और भारत सरकार की मदद के लिए उनका आभार व्यक्त करता हूं। मैं राष्ट्र को यकीन दिलाता हूं कि हम अपनी वायु सीमाओं और राष्ट्रहित की रक्षा करने के अपने दृढसंकल्प के प्रति प्रतिबद्ध हैं..।

इस अवसर पर परेड और हवाई करतब का प्रदर्शन किया गया।हवाई प्रदर्शन की शुरूआत में आकाशगंगा टीम के सदस्यों ने रंग-बिरंगी छतरियों के साथ एएन-32 विमान से छलांग लगाई। हवाई प्रदर्शन में विंटेज विमान, आधुनिक मालवाहक और प्रमुख लड़ाकू विमान शामिल हुए। स्वदेश निर्मित लड़ाकू विमान तेजस,मिग, सुखोई, मिराज और ध्रुव हेलीकाप्टर ऐरोवेटिक टीम सारंग के कलाबाजियां भी इस समारोह के दौरान देखने को मिली।

समारोह का समापन हैरतंगेज हवाई करबतों के साथ हुआ जो वायुसेना के सूर्यकिरण ऐरोबेटिक टीम द्वारा नौ विमानों के साथ किया गया। समारोह के दौरान वायुसेना के योद्धाओं ने मार्शल अर्जन सिंह को श्रद्धांजलि दी।

इस अवसर पर राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने वायुसेना को बधाई दी है। श्री रामनाथ कोविंद ने ट्वीट संदेश में कहा कि वह भारत के रणबांकुरे वायुसैनिकों की बहादुरी,प्रतिबद्धता और निष्ठा को नमन करते हैं। श्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट संदेश में कहा है कि वायुसैनिकों के दृढ़ संकल्प और बुद्धिमत्ता के बल पर भारतीय आकाश सुरक्षित है।