Monday , December 6 2021
Home / खास ख़बर / उच्च न्यायालय ने खट्टर के साथ ही मोदी सरकार पर भी की तीखी टिप्पणी

उच्च न्यायालय ने खट्टर के साथ ही मोदी सरकार पर भी की तीखी टिप्पणी

चंडीगढ़ 26 अगस्त।पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय ने डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम सिंह को बलात्‍कार के मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद उनके समर्थकों के उपद्रव पर हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार ही नही बल्कि केन्द्र की मोदी सरकार पर कड़ी फटकार लगाते हुए तीखी टिप्पणी की।

उच्च न्यायालय की फुल बेंच ने आज भी अपने दो दिन से बने रूख को बरकरार रखते हुए कट्टर सरकार पर तीखी टिप्पणी करते हुए कहा कि..अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए सरकार ने पंचकूला को जलने के लिए छोड़ दिया..।पीठ ने सुनवाई के दौरान कहा कि हालात के सामने सरकार ने आत्मसमर्पण  कर दिया।

पीठ ने केन्द्र सरकार की जमकर लतार लगाई और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बारे में कहा..’वह देश के प्रधानमंत्री हैं, न कि बीजेपी के..।पीठ ने यह टिप्पणी उस समय की जब जब केन्द्र सरकार के अधिवक्ता ने कहा कि कल की हिंसा राज्य का विषय है।इस पर पीठ ने कहा कि.. क्या हरियाणा भारत का हिस्सा नहीं है ? पंजाब और हरियाणा के साथ सौतेले बच्चे की तरह बर्ताव क्यों किया जा रहा है ?
पीठ ने कल ही एक जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान उत्पात से हुए नुकसान की भरपाई के लिए गुरमीत राम रहीम की संपत्ति बेचने का आदेश दिया था।अदालत ने इसी मामले की सुनवाई के दौरान आज यह टिप्पणियां की।

इस बीच उच्च न्यायालय के कड़े रूख के बीच राम रहीम की गिरफ़्तारी के वक़्त करनाल के पुलिस महानिरीक्षक को थप्पड़ मारने वाले राम रहीम के छह सुरक्षा गार्ड और दो समर्थकों के ख़िलाफ़ देशद्रोह का मामला दर्ज कर लिया गया है।