Thursday , December 9 2021
Home / Uncategorized / अल्प वर्षा से प्रभावित क्षेत्रों के लिए अंतर्विभागीय दलों का गठन

अल्प वर्षा से प्रभावित क्षेत्रों के लिए अंतर्विभागीय दलों का गठन

रायपुर 26 अगस्त।छत्तीसगढ़ सरकार ने चालू मानसून सीजन के दौरान प्रदेश के कई क्षेत्रों में अल्प वर्षा के कारण सूखे की स्थिति उत्पन्न होने की संभावना को दृष्टिगत रखते हुए राज्य स्तरीय अंतर्विभागीय दलों का गठन किया है।

राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा आज यहां दलों के गठन के आदेश जारी कर दिए गए। अल्प वर्षा के प्रभावित क्षेत्रों का निरीक्षण कर फसल, सिंचाई, पेयजल, विद्युत आपूर्ति, रोजगार, जनस्वास्थ्य, पशुचारा तथा अन्य जरूरी बिन्दूओं पर की जा रही कार्रवाई का परीक्षण करने राज्य स्तरीय अंतर्विभागीय दलों का गठन किया है।

आदेश के अनुसार श्री नीलकंठ टीकाम संयुक्त सचिव राजस्व आपदा प्रबंधन विभाग (दल प्रमुख), श्री जी.के.निर्माम संयुक्त संचालक कृषि, श्री ए.पी. सिंह अधीक्षण अभियंता कार्यालय निदेशक छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत वितरण कंपनी डंगनिया रायपुर, श्री हेम चन्द्रनेहा प्रभारी अधिक्षण अभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग रायपुर, श्री इन्द्रजीत उईके मुख्य अभियंता, कार्यालय मुख्य अभियंता जल संसाधन विभाग रायपुर को 70 प्रतिशत से कम वर्षा वाले जिला एवं तहसील निरीक्षण के लिए आवंटित किया है।

इनमें जिला बिलासपुर की तहसील मस्तुरी, बिल्हा, तख्तपुर, जिला मुंगेली की तहसील लोरमी और पथरिया, जिला-जांजगीर-चांपा की तहसील जैजैपुर जिला रायगढ़ की तहसील धर्मजयगढ़ का और बरमकेला तथा जिला कोरिया की तहसील बैकुण्ठपुर खड़गवां और भरतपुर शामिल है।

राज्य स्तरीय अंतर्विभागीय दल के अधिकारियों द्वारा संयुक्त रूप से आवंटित जिला/तहसील का भ्रमण कर खरीफ फसल, सिंचाई, विद्युत प्रदाय की स्थिति का निरीक्षण किया जाएगा तथा किसान, जनप्रतिनिधियों तथा संबंधित अधिकारियों से चर्चा की जाएगी। वे निरीक्षण प्रतिवेदन राहत आयुक्त एवं सचिव राजस्व एवं आपदा प्रबंधन को प्रस्तुत करेंगे।

संबंधित जिला कलेक्टरों को निर्देश दिए हैं कि राज्य स्तरीय अंतर्विभागीय दल को जिले के सूखा प्रभावित क्षेत्र के भ्रमण के समय उनके द्वारा चाही गयी जानकारी उपलब्ध करायें तथा संबंधित विभाग के अधिकारियों को दल के साथ निरीक्षण में सहयोग करने के लिए उन्हें निर्देशित किया जाए।