Tuesday , November 30 2021
Home / छत्तीसगढ़ / अन्नदाताओं की मेहनत से ही उपजती है फसल और मिटती है भूख- रमन

अन्नदाताओं की मेहनत से ही उपजती है फसल और मिटती है भूख- रमन

डोगरगढ़/कवर्धा 06 अक्टूबर।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने कहा कि किसान हमारे अन्नदाता हैं।गर्मी, बरसात और ठंड में उनकी कड़ी मेहनत से ही फसल उपजती है और दुनिया को भूख मिटाने के लिए अनाज मिलता है।
डा.सिंह आज बोनस तिहार के अवसर पर राजनांदगांव जिले के डोंगरगढ़ और कबीरधाम जिले के मुख्यालय कवर्धा में हजारों की संख्या में आए किसानों, मजदूरों और आम नागरिकों को संबोधित कर रहे थे। किसानों ने दोनों कार्यक्रमों में मुख्यमंत्री का शानदार स्वागत और अभिनंदन किया। डॉ.सिंह ने दोनों जिलों के एक लाख 65 हजार किसानों को 255 करोड़ रूपए के धान बोनस का ऑन लाइन वितरण किया।

मुख्यमंत्री द्वारा लेपटाप पर क्लिक करते ही कुछ मिनटों के भीतर बोनस की यह सम्पूर्ण राशि किसानों के बैंक खातों में जमा हो गई।मुख्यमंत्री ने इनमें से राजनांदगांव जिले के एक लाख 15 हजार से ज्यादा किसानों को 155 करोड़ 34 लाख रूपए और कबीरधाम जिले के 50 हजार से ज्यादा किसानों को 69 करोड़ 76 लाख रूपए के धान बोनस का वितरण किया। उन्होंने प्रतीक स्वरूप कई किसानों को धान बोनस प्रमाण-पत्र भी सौंपा।
मुख्यमंत्री ने दोनों जिलों के कार्यक्रमों में 137 करोड़ 64 लाख रूपए से ज्यादा लागत के 70 निर्माण कार्यों का भूमिपूजन और शिलान्यास भी किया।

प्रसिद्ध तीर्थ डोंगरगढ़ के बोनस तिहार में उन्होंने कहा कि मां बम्लेश्वरी के आशीर्वाद से यहां पर आज एक बड़ा ऐतिहासिक कार्यक्रम आयोजित हुआ है। डॉ. सिंह ने दोनों जिलों के बोनस तिहारों में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य के  21 जिलों की 96 तहसीलों में इस वर्ष सूखे की स्थिति है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यहां के अकाल की स्थिति के बारे में सुनकर तत्काल किसानों के लिए धान बोनस देने की सहमति प्रदान कर दी। पिछले साल का बोनस इस साल दिया जा रहा है और अगले साल भी दीपावली से पहले उन्हें बोनस देने की तैयारी की जा रही है।